SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

विज्ञान मेला 2022-23 आयोजन दिशा-निर्देश

सर्वप्रथम सन् 1968 में राज्य विज्ञान शिक्षण संस्थान, उदयपुर द्वारा राज्य स्तरीय मेले का आयोजन प्रारम्भ किया गया । इसके पश्चात् प्रथम राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी 1971 में एन.सी.ई.आर.टी. नई दिल्ली में आयोजित की गई। एन.सी.ई.आर.टी. नई दिल्ली द्वारा 1972 से प्रतिवर्ष राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी एवं राज्य स्तर पर “विज्ञान मेलों का आयोजन प्रारम्भ किया गया।

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री श्री जवाहर लाल नेहरू की जन्म शताब्दी समारोह की शुरूआत के वर्ष 1988 से इस राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी का नाम बच्चों के लिए जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी कर दिया गया। राजस्थान में 1968 से लगातार राज्य स्तरीय विज्ञान मेलों का आयोजन किया जा रहा है। सत्र 2022-23 से राष्ट्रीय आविष्कार अभियान के तहत जिला स्तरीय विज्ञान मेले का आयोजन समग्र शिक्षा एवं आरएससीईआरटी उदयपुर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया जा रहा है। राज्य स्तर विज्ञान मेले का आयोजन समग्र शिक्षा, आरएससीईआरटी एवंएनसीईआरटी, दिल्ली के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया जा रहा है।

विज्ञान मेले के प्रमुख उद्देश्य

  1. युवा पीढ़ी में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए रुवि जागृत कर उनमें वैज्ञानिक प्रवृत्ति उत्पन्न करना ।
  2. विद्यार्थियों की अपनी स्वाभाविक जिज्ञासा एवं रचनात्मकता के लिए एक मंच उपलब्ध कराना, जहाँ वे अपनी ज्ञान पिपासा हेतु खोजबीन कर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकें।
  3. विद्यार्थियों को अपने आस-पास हो रहे क्रियाकलापों में विज्ञान की उपस्थिति का अनुभव कराना और ज्ञान कराना कि हम भौतिक एवं सामाजिक पर्यावरण से अधिगम प्रक्रिया को जोड़कर ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं तथा अनेक समस्याओं का समाधान भी कर सकते हैं।
  4. विद्यार्थियों में अन्वेषण की आदत व सृजनात्मक सोच को प्रोत्साहित करना और प्रादर्शों/ मॉडलों अथवा सरल उपकरणों को स्वयं तैयार करने को प्रोत्साहित कर उनके मनचालक (psychomotor) और हस्तपरक कौशलों को प्रोन्नत करना ।
  5. प्रतिभागियों में बौद्धिक ईमानदारी, दल-भावना और सौंदर्यपरकता उत्पन्न करना ।
  6. समाज के उपयोग हेतु अच्छी गुणवत्ता एवं पर्यावरण अनुकूल सामग्री के उत्पादन हेतु विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की भूमिका पर जोर देना। विद्यार्थियों को भविष्य के प्रति दूरदर्शी बनाना तथा उन्हें संवेदनशील एवं जिम्मेदार नागरिक बनने हेतु प्रोत्साहित करना।
  7. कृषि, उर्वरकों, खाद्य प्रसंस्करण, जैव तकनीकी, हरित ऊर्जा, सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी, खगोलविज्ञान, क्रीड़ा तथा खेलकूद एवं जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने इत्यादि के क्षेत्रों में नए उपायों को तलाशने में विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी की भूमिका की सराहना करना ।
  8. दैनिक जीवन में आने वाली समस्याओं की सजीव कल्पना करने एवं उन्हें हल करने हेतु गणित को प्रयोग में लाना इत्यादि ।

SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

मेले की विस्तृत जानकारी

विज्ञान सम्बंधी प्रादशों के उपविषय एवं सेमिनार के विषय प्रतिवर्ष एन.सी.ई.आर.टी. नई दिल्ली द्वारा निर्धारित किए जाते हैं। राष्ट्रीय स्तर पर केवल विज्ञान प्रदर्शनी का ही आयोजन होता है। इसके लिए प्रादर्शों का चयन राज्य स्तरीय विज्ञान मेले के श्रेष्ठ प्रादशों के आलेखों के आधार पर एन.सी.ई.आर.टी. नई दिल्ली द्वारा किया जाता है। राज्य में विज्ञान मेला इस वर्ष तीन चरण में आयोजित हैं। सर्वप्रथम विद्यालय स्तर तत्पश्चात् जिला स्तर तथा अंत में राज्य स्तर पर। राज्य स्तरीय विज्ञान मेला में जिला स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले संभागी भाग लेते हैं। राज्य स्तर पर प्रथम रहे संभागी राष्ट्रीय स्तर पर सहभागिता करेंगे।

 

सामान्य निर्देश

विभिन्न स्तरों पर विज्ञान मेले के सफल आयोजन हेतु आपका ध्यान निम्नांकित बिन्दुओं की ओर आकर्षित किया जाता हैं। यह मेला निम्नलिखित स्तरों पर आयोजित किया जाएगा।

 

NOTE : वर्तमान में जिला स्तर पर नियोजित किया गये कार्यक्रम में बदलाव हुआ फ़िलहाल जिला स्तर पर आयोजन की तिथियों की घोषणा बाद में की जायेगी |

  1. इसमें सरकारी, पब्लिक और प्राइवेट, केथोलिक, मिशनरी, सैन्य बल के विद्यालय थल सेना, वायु सेना, नौ सेना, सैनिक, सीमा सुरक्षा बल, भारत-तिब्बत सीमा पुलिस, असम राइफल्स, केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल, पुलिस आदि डी.ए.वी. प्रबंधन, महर्षि विद्या मंदिर, सरस्वती विद्या मंदिर, नवयुग, नगरपालिका, भारतीय विद्या भवन, आदि में पढ़ रहे बच्चे भाग लेने के पात्र हैं। इसमें केन्द्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, स्वामी विवेकानन्द मोडल विद्यालय, परमाणु ऊर्जा आयोग एवं केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से सम्बद्ध विद्यालय तथा क्षेत्रीय शिक्षा संस्थान के बहुउद्देशीय प्रदर्शन विद्यालयों के विद्यार्थी भाग नहीं ले सकेंगे क्योंकि इनके लिए अलग से विज्ञान प्रदर्शनी आयोजित होती है।
  2. जिला / राज्य स्तरीय विज्ञान मेले का आयोजन NCERT एवम RSCERT के दिशानिर्देशों के अनुसार किया जाएगा।
  3. एक संभागी किसी एक ही प्रतियोगिता में भाग ले सकेगा।
  4. प्रतियोगिताओं में प्रस्तुति का माध्यम हिन्दी / अंग्रेजी होगा।
  5. विद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले संभागी जिला स्तर पर भाग लेंगे।
  6. मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी एवं संस्था प्रधान यह सुनिश्चित करें कि जिले के समस्त विद्यालयों में विज्ञान मेला अनिवार्यतः आयोजित किया जाए तथा विद्यालय स्तर पर प्रथम रहे संभागी जिला स्तर पर अनिवार्यतः भाग लें।
  7. जिला शिक्षा अधिकारी (मु) माध्यमिक एवं मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी ब्लॉक के समस्त विद्यालय (उच्च माध्यमिक माध्यमिक विद्यालय / उच्च प्राथमिक विद्यालय) को जिला स्तरीय विज्ञान मेले में भाग लेने के लिए पाबंद करे।
  8. जिला एवं राज्य स्तरीय विज्ञान मेले के आयोजक / संयोजक राजकीय विद्यालय / परिषद ही रहेंगे। आयोजक स्थल निजी होने की स्थिति में भी संयोजक राजकीय विद्यालय के प्रधानाचार्य ही रहेंगे।
  9. प्रमाण पत्र सभी प्रतिभागियों एवं निर्णायकों को दिया जाएगा।
  10. यह विज्ञान मेला, शिक्षा विभाग का महत्वपूर्ण आयोजन है, इसमें अधिकाधिक सहभागिता से शिक्षा विभाग की विज्ञान लोकप्रियता की दिशा में सफलता परिलक्षित होगी। अतः मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी, अपने जिले के जिला शिक्षा अधिकारी (मुख्यालय), माध्यमिक व प्रारम्भिक, सभी मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी एवं संस्था प्रधानों को निर्देशित करें कि उच्च प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालय जिला स्तरीय विज्ञान मेलो में अनिवार्यतः भाग लें।
  11. जिला स्तरीय विज्ञान मेले में भाग नहीं लेने वाले विद्यालयों के संस्था प्रधानों के विरुद्ध मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी अपेक्षित कार्यवाही सुनिश्चित करें तथा ऐसे विद्यालयों की सूची निदेशालय, माध्यमिक शिक्षा / प्रारम्भिक शिक्षा, राज. बीकानेर एवं परिषद् को प्रेषित करें।
  12. जिला स्तरीय विज्ञान मेले में प्रत्येक प्रतियोगिता एवं उपविषय प्रादर्श में प्रथम स्थान प्राप्त एक ही प्रतियोगी राज्य स्तरीय विज्ञान मेले में भाग ले सकेंगे।
  13. प्रत्येक विद्यालय स्तरीय विज्ञान मेला का प्रतिवेदन जिला शिक्षा अधिकारी (मुख्यालय) माध्यमिक को अनिवार्यतः भेजा जाए। जिला स्तरीय विज्ञान मेला का प्रतिवेदन मेला समाप्ति के 7 दिवस में मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी से प्रतिहस्ताक्षर करा परिषद् को भिजवाना सुनिश्चित करे।
  14. जिला स्तरीय विज्ञान मेला के प्रतिवेदन के साथ मेले में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले संभागियों की सूची निम्नांकित फोर्मेट में भेजनी होती हैं |

SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

15.  कृपया यह सुनिश्चित करें कि परिषद द्वारा भेजे जा रहे समस्त निर्देश तथा प्रतियोगिता संबंधी जानकारी प्रत्येक सरकारी एवं निजी विद्यालय में अनिवार्य रूप से पहुँच जाए ताकि इन प्रतियोगिताओं में गुणवत्ता दिखाई दे, इसकी सूचना परिषद् को अवश्य भिजाएँ।
16. विज्ञान मेले में मूल्यांकन निर्णय व्यवस्था निष्पक्ष, पारदर्शी हो, यह सुनिश्चित किया जाए। मूल्यांकन में ध्यान रहे कि मेले में प्रत्येक प्रतियोगिता में प्रथम स्थान एक प्रतियोगी को ही मिले। बने बनाएँ प्रादर्शों के स्थान पर विद्यार्थियों द्वारा स्वयं बनाए गए प्रादर्शों को वरीयता दी जाए। निर्णायक एक दिन में ही मूल्यांकन कार्य सम्पन्न कर लें, ऐसी व्यवस्था की जाए। निर्णायकों एवं विद्यार्थियों का यात्रा भत्ता स्वयं के विद्यालय से देय होगा।

17. राज्य स्तर पर प्रादर्श का चयन होने पर 49वां जवाहर लाल नेहरू राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी 2022-23 हेतु संलग्न पंजीयन प्रपत्र-स मय रेखाचित्र प्रादर्श फोटो पोस्टकार्ड साईज दो प्रतियों में तथा 5 मिनिट की एक सी.डी. / पेन ड्राईव एवं गूगल ड्राईव लिंक मय वीडियो प्रदर्शन भी संलग्न करना है, जिनमें निम्नानुसार जानकारी होना आवश्यक है- प्रादर्श का शीर्षक, प्रादर्श की कार्यप्रणाली, प्रादर्श का क्षेत्र, वैज्ञानिक सिद्धान्त एवं अनुप्रयोगा (छात्र अपना कोड नम्बर देवें)
18. प्रादर्श व अन्य प्रतियोगिता सामग्री पर संभागी का नाम व विद्यालय का नाम नहीं लिखा हो इसे सुनिश्चित किया जाए। उस पर आवंटित कोड संख्या ही लिखी जाए।

19. इस वर्ष यह विज्ञान मेला आरएससीईआरटी उदयपुर, एनसीईआरटी, नई दिल्ली एवं समग्र शिक्षा अभियान, जयपुर के संयुक्त तत्वाधान में एनसीईआरटी व समग्र शिक्षा अभियान के निर्देशानुसार आयोजित किया जायेगा।
दिव्यांगों के लिये उपयोगी प्रादर्श को प्रोत्साहित किया जाना है इस हेतु सभी उपविषय के प्रादर्श का एक समूह बनाकर उनका मूल्यांकन अलग किया जाकर उन्हें प्रोत्साहित पुरुस्कृत करें।
20. जिला स्तरीय विज्ञान मेला के आयोजन हेतु प्रति जिला 85000/रु की राशि का प्रावधान है जिसका व्यय समसा (समय शिक्षा अभियान) के वित्तीय प्रावधानों के अनुसार किया जायेगा।
21. मेले से संबंधित विभिन्न प्रतियोगिताएँ एवं उनके निर्देश आगे दिए गए हैं।
22. मेला आयोजन से पूर्व जिला स्तरीय अधिकारियों की एक दिवसीय आमुखीकरण कार्यशाला का आयोजन RSCERT द्वारा किया जाएगा।
23. मेला आयोजन का पेम्पलेट, पोस्टर व स्माइल ग्रुप द्वारा व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए।

प्रधानाचार्य (समस्त विद्यालय) हेतु निर्देश

  1. विद्यार्थियों को विज्ञान मेले के आयोजन की सूचना देवे एवं मेले के लिए प्रादर्श निर्माण हेतु कक्षा 6 से 12 तक के विद्यार्थियों को प्रेरित करें।
  2. कोरोना गाइडलाईन के दिशा निर्देशो को दृष्टिगत रखते हुए दिनांक 1 अक्टूबर 2022 तक विद्यालय स्तरीय विज्ञान मेले का आयोजन करें।
  3. उपरोक्त मुख्य विषय व उपविषयों को ध्यान में रखते हुए जूनियर व सीनियर वर्ग में श्रेष्ठ प्रादर्श का चयन करें।
  4. विद्यालय स्तर पर चयनित विद्यार्थियों को निर्धारित गुगल फोर्म लिंक पर विद्यालय मेल आईडी से पंजीकरण दिनांक 1 अक्टूबर 2022 तक करना होगा विद्यालय स्तर पर चयनित विद्यार्थियों का विवरण मार्गदर्शक शिक्षक द्वारा स्वयं गूगल फॉर्म में भरा जावे किसी भी स्थिति में छात्रों द्वारा नहीं भरवाया जावे।
  5. उक्त गूगल फॉर्म का लिंक जिशिअ (माध्यमिक) मुख्यालय द्वारा 29 सितम्बर 2022 तक आपको उपलब्ध कराया जाएगा।
  6. प्रत्येक संभागी को अपने प्रादर्श के प्रस्तुतीकरण हेतु अधिकतम सात मिनिट का समय दिया जाएगा। इसमें विद्यार्थी को अपने प्रादर्श निर्माण के उद्देश्य, वैज्ञानिक सिद्धान्त, कार्यविधि व उपयोगिता बिन्दुओं को ध्यान में रखते हुए प्रस्तुतीकरण के लिए 5 मिनिट का समय दिया जाएगा एवं निर्णायकों द्वारा शेष 2 मिनिट में मॉडल से संबंधित प्रश्नोत्तर किए जाएगें। अतः संभागी इस हेतु मॉडल के प्रस्तुतीकरण के निर्धारित बिन्दुओं को दृष्टिगत रखते हुए 5 मिनिट की स्क्रिप्ट लिखित रूप में तैयार कर अभ्यास कर लेवें।
  7. एक विद्यार्थी एक ही प्रतियोगिता में भाग ले सकता है, अन्यथा उसकी प्रविष्ठी निरस्त मानी जाएगी ।
  8. विद्यालय स्तर पर पंजीकरण हेतु संभागी से संबंधित निम्नांकित प्रारूप में सूचनाओं की आवश्यकता रहेगी अतः समस्त सूचनाएं एकत्र कर विद्यालय स्तर पर संधारित करें।

SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

मुख्य ब्लाक शिक्षा अधिकारी हेतु निर्देश:

अपने अधीनस्थ समस्त संस्था प्रधान उ.प्रा.वि./मा.वि./उ.मा.वि. में इस विज्ञान मेले का व्यापक प्रचार प्रसार करें। अधिक से अधिक विद्यालय इस विज्ञान मेले मे भाग लेना सुनिश्चित करें। विद्यालय स्तरीय विज्ञान मेले की आवश्यक मॉनिटरिंग करे तथा आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान करे।

जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक (मुख्यालय) नोडल हेतु निर्देश:

  • मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी के मार्गदर्शन में जिला शिक्षा अधिकारी (मुख्यालय) माध्यमिक इसके नोडल होंगे।
  • समयबद्ध कार्यक्रम होने से विज्ञान मेले से सम्बन्धित आपकी मेल आई डी शीघ्र आरएससीईआरटी उदयपुर को 28 सितम्बर 2022 से पूर्व तक साझा करें।
  • जिले में आयोजित किये जाने वाले जिला स्तरीय विज्ञान मेले हेतु विद्यालय का चयन कर आयोजक विद्यालय की सूचना निम्न लिंक के माध्यम से उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित करें।

SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

लिंक ⇓⇓⇓⇓

  • साथ ही जिला स्तरीय आयोजक विद्यालय की मेल आई डी भी आरएससीईआरटी उदयपुर को प्रेषित करें जिससे जिला स्तर पर भाग लेने वाले संभागियों की सूचना आप द्वारा उपलब्ध करायी गयी मेल आई डी पर ही एक्सेस दिया जा सके ।

लिंक पर दी जाने वाली सूचना

  1. जिशिअ (माध्यमिक) मुख्यालय कार्यालय का नाम
  2. जिशिअ (माध्यमिक) का नाम एवं मो. न.
  3. जिशिअ (माध्यमिक ) मुख्यालय विज्ञान मेला से सम्बन्धित मेल आईडी
  4. जिशिअ (माध्यमिक ) मुख्यालय विज्ञान मेला प्रभारी का नाम, पद नाम एवं मो.न.
  5. जिला स्तरीय विज्ञान मेला आयोजक विद्यालय का नाम
  6. जिला स्तरीय विज्ञान मेला आयोजक विद्यालय संस्था प्रधान का नाम एवं मो.न.
  7. जिला स्तरीय विज्ञान मेला आयोजक विद्यालय प्रभारी का नाम एवं मो.न.
  • अपने अधीनस्थ समस्त संस्था प्रधान उ.प्रा.वि./ मा.वि./उ.मा.वि. में इस विज्ञान मेले का व्यापक प्रचार प्रसार करें।

निर्णायकों की नियुक्ति:

विद्यार्थियों के थीमवार मूल्यांकन हेतु जिला शिक्षा अधिकारी (मुख्यालय) माध्यमिक नोडल निर्णायकों का दल गठित करें।
जिला स्तर पर प्रादर्श प्रतियोगिता के मूल्यांकन हेतु 3-3 निर्णायकों की प्रतिनियुक्ति करें, जिसमें उपविषय के अनुसार जीव विज्ञान, कृषि विज्ञान, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, दिव्यांग के लिए उपयोगी / आई.टी. के विषय विशेषज्ञ होने चाहिए।
दिव्यांग के लिए उपयोगी प्रादर्श के मूल्यांकन हेतु निर्णायक दल में संबंधित विषय विशेषज्ञ एवं CWSN के संदर्भ विशेषज्ञ को भी जोड़ा जाना सुनिश्चित करें।
जिला स्तरीय विज्ञान मेले हेतु निर्णायकों की पूर्व तैयारी बैठक आयोजित करें उसमें मूल्यांकन संबंधी समस्त दिशा निर्देश देवे।

  1. प्रादर्श प्रदर्शन प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थी जूनियर वर्ग में तथा कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थी सीनियर वर्ग में भाग ले सकेंगे।
  2. प्रादर्श प्रदर्शन प्रतियोगिता में एनसीईआरटी द्वारा निर्धारित उपविषयों में से प्रत्येक उपविषय में एक-एक विद्यार्थी भाग ले सकेगा।
  3. विद्यार्थी स्वयं प्रादर्श का निर्माण करें। विद्यार्थी के प्रादर्शों में अपनी सृजनात्मकता, मौलिकता, वैज्ञानिकता एवं गणित के नवाचार, वैज्ञानिक सोच एवं समाज के लिए उपयोगी हो प्रतियोगिता में विद्यार्थियों के स्वयं की सृजनशील कल्पना, तकनीक कौशल, कर्म कौशल एवं शिल्प कौशल को वरीयता दी जाए। प्रादर्श मितव्ययी (कम लागत के), सुवाहा (पोर्टेबल) एवं टिकाऊ हो। ये अत्यन्त बड़े न हों कि इन्हें स्थानान्तरित करने में कठिनाई आए।
  4. गत सत्रों के किसी भी प्रादर्श को दोहराया नहीं जाए तथा प्रादर्श इस सत्र के मुख्य विषय/ उपविषय से संबंधित हो। प्रादर्श के मूल्यांकन हेतु तीन सदस्यीय दल का गठन किया जाए। एक ही दिन में तीनों निर्णायक पृथक-पृथक मूल्यांकन करें, जिसे समेकित कर परिणाम की घोषणा की जाए।
  5. उपविषय के बारे में विस्तृत जानकारी एनसीईआरटी की वेबसाइट www.ncert.nic.in एवं www.rscert.nic.in से डाउन लोड की जा सकती है।

गतिविधि -2 (विद्यार्थी सेमीनार )

संभागी : कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थी    समयावधि: 6 मिनिट प्रति संभागी
विषय:- “सतत भविष्य के लिए वैज्ञानिक नवाचार” (Scientific Innovation for Sustainable future)

सेमिनार आयोजन के दिशा निर्देश:
1.विद्यालय स्तर पर आयोजित सेमिनार में विद्यालय के कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थी भाग ले सकेंगे।
2. विद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले संभागी जिला स्तर पर भाग ले सकेंगे।
3. सेमिनार प्रतिवेदन की हार्ड कॉपी प्रतियोगिता आयोजन के दो दिन पूर्व आयोजक विद्यालय को पहुँचाने हेतु जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक (मुख्यालय) को भिजवानी होगी ।
4. जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक (मुख्यालय) द्वारा प्रतियोगिता आयोजन के एक दिवस पूर्व आयोजक विद्यालय के निर्णायको, को हार्ड कॉपी उपलब्ध करायी जायेगी ताकि वे मूल्यांकन प्रपत्र में पहले कॉलम में अंकल कर सकेंगे।
5. इसमें संभागी अपने द्वारा किए गए कार्य एवं उसके प्रतिवेदन को सहायक सामग्री यथा चार्ट, पोस्टर, कम्प्यूटर/लेपटोप, मॉडल का प्रयोग कर दर्शको एवं निर्णायको के समक्ष प्रदर्शित करेगे।
6. दिए गए विषय पर अपने द्वारा किए गए कार्य का प्रतिवेदन निर्णायकों के समक्ष भी प्रस्तुत करना होगा।
7. निर्णायकों द्वारा पूछे जाने वाले प्रश्नों का उत्तर देना होगा (अधिकतम दो प्रश्न )
8.प्रतियोगी संभागी को अपने प्रतिवेदन की प्रति तथा कुल 500 शब्दों में सारांश की प्रति प्रस्तुतीकरण के समय मूल्यांकन शीट के कॉलम संख्या-2 में अंक प्रदान करने के लिए प्रस्तुत करनी होगी।
9 प्रतिवेदन पर संभागी की पहचान संबंधित विवरण यथा- नाम, विद्यालय इत्यादि अंकित नहीं हो, यह सुनिश्चित किया जाए। प्रतिवेदन पर केवल कोड नं. ही अंकित होना चाहिए |
10. मूल्यांकन निम्नांकित प्रपत्र में तीन निर्णायकों द्वारा किया जाए। मूल्यांकन में शोध/ क्रियाकलाप आधारित प्रायोजना को महत्त्व दिया जाए। यदि संभागी शोध अध्ययन करता है तो उसे अपना शोध प्रतिवेदन निम्नांकित बिन्दुओं के तैयार करना चाहिए तथा शोध में न्यूनतम 50 न्यादर्श लिए जाए –

1. शीर्षक 2. प्रस्तावना, आवश्यकता एवं महत्व 3. उद्देश्य 4. प्रक्रिया 5. दत्त संकलन 6. दत्त विश्लेषण 7. निष्कर्ष 8, अध्ययन के संबंध में सुझाव 9. संदर्भ साहित्य

गतिविधि-3 विज्ञान क्विज प्रतियोगिता निर्देश

नियम :
1. इस प्रतियोगिता में कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थी ही भाग लेंगे। विद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाला प्रतियोगी ही जिला स्तर पर भाग ले सकेगा। राज्य स्तरीय विज्ञान मेले में जिला स्तर पर प्रथम रहे विद्यार्थी को ही भेजा जाए। चयनित विद्यार्थी का पंजीकरण कराने हेतु गूगल फार्म लिंक जिशिअ (माध्यमिक) मुख्यालय नोडल द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा ।
2. छात्र-छात्राओं के लिए विवज प्रतियोगिता सम्मिलित रूप से आयोजित की जाएगी।
3- मौखिक विवज प्रतियोगिता का पाठ्यक्रम कक्षा 6 से 8 विज्ञान विषय का होगा |
4. इस प्रतियोगिता में विवज नियंत्रक का निर्णय ही सर्वमान्य होगा।
5. यह प्रतियोगिता दो चरणों में आयोजित होगी।
6. प्रतियोगिता हिन्दी एवं अंग्रेजी माध्यम में आयोजित की जाएगी।

(अ) प्रथम चरण (क्वालिफाईंग राउन्ड)–

इसके अन्तर्गत परीक्षा होगी, जिसका मुख्य उद्देश्य प्रतियोगी छात्र-छात्राओं की विषय आधारित जानकारी का परीक्षण कर उन्हे मौखिक परीक्षा के चरण में प्रवेश देना है।
क्वालिफाईंग राउन्ड सम्बन्धित प्रश्न पत्र का निर्माण हिन्दी तथा अंग्रेजी दोनों माध्यम में जिला स्तर पर जिशिअ (माध्यमिक) मुख्यालय द्वारा गठित विषय विशेषज्ञों के दल द्वारा किया जाएगा। तथा राज्य स्तर के लिए आरएससीईआरटी द्वारा गठित विषय विशेषज्ञों के दल द्वारा किया जाएगा।
प्रश्नों की संख्या – 60, पूर्णांक 60 अंक, प्रश्नों के प्रकार बहुचयनात्मक, अवधि 60 मिनट, प्रतिविषय अंकभार – 10

विषय क्षेत्र : 1. भौतिक 2. रसायन 3. जीव विज्ञान 4. गणित 5. पर्यावरण एवं स्वच्छ भारत 6. विज्ञान के विविध क्षेत्र

इन विषय क्षेत्रों में से प्रत्येक से 10-10 प्रश्न पूछे जाएंगे। जिला स्तर के लिए क्वालिफाईग परीक्षा का आयोजन मेले के प्रथम दिवस में किया जाएगा। जिसके लिए चयनित विद्यार्थी को एक प्रश्न पत्र दिया जाएगा। यह परीक्षा व्यक्तिगत होगी। सभी विद्यार्थियों द्वारा प्राप्त अंकों की वरीयता सूची बनाई जाएगी। परीक्षा के जिले की वरीयता सूची में प्रथम 12 स्थान पर रहने वाले विद्यार्थियों के परिणाम की घोषणा प्रथम दिन ही की जाएगी। यदि उक्त परीक्षा में अंतिम 12 वें स्थान पर एक से अधिक विद्यार्थियों के समान अंक आए तो उन्हें 20 प्रश्नों का अतिरिक्त प्रश्न पत्र 15 मिनट में हल करने हेतु दिया जाएगा।

(ब) द्वितीय चरण (मौखिक अभिव्यक्ति) 

मौखिक अभिव्यक्ति हेतु तीन समूह निम्नानुसार बनाये जाने हैं –

 

प्रत्येक समूह के लिए द्वितीय चरण (मौखिक अभिव्यक्ति) के आगे दिए गए चार चक्र (विशिष्ट, दीर्घ, दृश्य श्रव्य एवं त्वरित चक्र) आयोजित किए जाए। इसमें समूह में सर्वाधिक अंक प्राप्त प्रतियोगी को उस समूह का विजेता घोषित किया जाए एवं इस प्रकार तीनों समूह के विजेता के लिए चौथा व अंतिम चक्र (फाइनल राउण्ड) आयोजित करें।

विज्ञान विषय के विशेषज्ञ वरिष्ठ प्राध्यापक/ शिक्षक को क्विज नियंत्रक नियुक्त किया जाए एवं क्विज प्रतियोगिता के संचालन के लिए विज्ञान विषय के प्राध्यापक/शिक्षकों को विवज मास्टर्स के रूप में नियुक्त किया जाए जो प्रतियोगियों से प्रश्न पूछेगे।
साथ ही दो शिक्षकों को टाइम कीपर तथा स्कोरर के रूप में नियुक्त किया जाए। जिला स्तर पर विवज नियंत्रक एवं विवज मास्टर्स की नियुक्ति जिशिअ (माध्यमिक ) मुख्यालय द्वारा की जाएगी जो RSCERT द्वारा प्रशिक्षित होने चाहिए।

SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

विज्ञान क्विज प्रतियोगिता : सामान्य निर्देश :

मौखिक परीक्षा में प्रश्न एक ही बार बोला जाएगा। सभी प्रतियोगी प्रश्न ध्यानपूर्वक सुनेंगे। प्रश्न की पुनरावृत्ति नहीं की जाएगी। प्रत्येक चक्र में उत्तर देने की अवधि निश्चित है। उत्तर देने की अवधि प्रश्न समाप्त होने के पश्चात् प्रारम्भ होगी। अंग्रेजी माध्यम के प्रतिभागी को अंग्रेजी में प्रश्न पूछा जाएगा।

1. प्रथम चक्र (विशिष्ट चक्र)-

प्रथम चक्र (विशिष्ट चक्र) का विषय उपर्युक्तानुसार रखा गया हैं।

  • इस चक्र में प्रश्नों की संख्या-2 प्रति संभागी ( एक सामान्य तथा दूसरा दृश्य श्रव्य विधा पर आधारित)
  • प्रति प्रश्न अंक आर-10 अंक
  • उत्तर देने की अवधि 10 सैकण्ड प्रति प्रश्न
    प्रस्तुतीकरण विधा- (दृश्य श्रव्य प्रश्न हेतु)- प्रयोग प्रदर्शन, पारदर्शी, लघुनाटक, वीडियो एवं ऑडियो रिकार्डिंग

2. द्वितीय चक्र- दीर्घ चक्र

इस चक्र में प्रश्नों के वाक्यांश दीर्घ होते हैं। साथ ही उत्तर देने की अवधि भी दीर्घ होती हैं। अतः इसे दीर्घ चक्र कहा जाता है।

  • प्रति संभागी प्रश्नों की संख्या 5 (प्रत्येक विषय से एक-एक )
  • प्रति प्रश्न अंक भार 10 अंक
  • उत्तर देने की अवधि 20 सैकण्ड प्रति प्रश्न
  • प्रश्न को एक प्रतियोगी द्वारा पास किए जाने पर दूसरे प्रतियोगी को उत्तर देने के लिए दिया जाने वाला समय 5 सैकण्ड तथा सही उत्तर देने पर 5 अंक बोनस दिए जाएँगे।
    अंक भार विषय क्षेत्र
  • इस चक्र हेतु विषय क्षेत्र भौतिक, रसायन, जीव विज्ञान, गणित एवं विज्ञान के विविध क्षेत्र होंगे।
  • इसमें अवबोध योग्यता प्रदर्शित करने वाले एवं अनुप्रयोग आधारित (Application based) प्रश्न भी पूछे जाएंगे।

3. तृतीय चक्र-दृश्य श्रव्य चक्र

इसमें दृश्य-श्रव्य सामग्री का प्रदर्शन करके प्रश्न पूछा जाता है अतः इस चक्र को दृश्य श्रव्य चक्र कहा जाता है।

  • इस चक्र में प्रश्नों की संख्या 5 होती है। प्रत्येक विषय से एक-एक (जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, तथा विज्ञान के विविध क्षेत्र) परन्तु यह उभयनिष्ठ होती है।
  • प्रश्न पूछने के पश्चात जो विद्यार्थी पहले जवाब देने के लिए बजर/संकेत करेगा। वही विद्यार्थी प्रश्न का जवाब देगा। गलत जवाब होने पर नकारात्मक अंकन (-5 अंक) होगा।
  • प्रति प्रश्न अंक भार 15 अंक उत्तर देने की अवधि 10 सैकण्ड इस चक्र में प्रश्न हिंदी में पूछा जाए तथा तकनीकी शब्दों को अंग्रेजी माध्यम में भी बताया जाए जैसे- बल Force का मात्रक unit क्या है ?
  • टीम के समक्ष श्रव्य-दृश्य सामग्री यथा- प्रयोग, चार्ट, मॉडल, चित्र, यंत्र, उपकरण, स्लाइड, ओवर हेड प्रोजेक्टर आदि से प्रदर्शन किया जाए। प्रदर्शन के बाद सामग्री हटा ली जाए तथा प्रदर्शित सामग्री पर आधारित प्रश्न पूछा जाए।

4. चतुर्थ चक्र-त्वरित चक्र

इस चक्र में संभागियों से एक मिनट में 12 प्रश्न त्वरित गति से पूछे जाते हैं। अतः इसे त्वरित चक्र कहते हैं।

  •  प्रश्नों की संख्या 12
  • प्रति प्रश्न अंक 5
  • कुल अंक 60
  • समय 1 मिनिट
  • इस चक्र में जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, तथा विज्ञान के विविध क्षेत्र में से तीन-तीन प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • त्वरित चक्र में विवज मास्टर शीघ्रता पूर्वक प्रश्न पूछेगा ताकि 1 मिनट में 12 प्रश्न पूछे जा सके।
  • प्रतियोगी को शीघ्रता से उत्तर देना होता हैं अतः प्रतियोगी को हिदायत दी जाए कि जिस प्रश्न का उत्तर नहीं देना चाहता है तो क्विज मास्टर को वह पास कह दे
  • यदि कोई विद्यार्थी उत्तर देने में समय नष्ट करता है तो उसके हिस्से में कम प्रश्न आएँगे।
  • यदि मौखिक क्विज के अंतिम चक्र के पश्चात् प्रथम स्थान पर किन्ही दो या अधिक प्रतियोगियों के कुल अंक समान हो तो उनके लिए पुनः त्वरित चक्र तब तक आयोजित किया जाए जब तक कि एक प्रतियोगी विजेता नहीं बनें।

जिलावार विज्ञान मैला में भाग लेने के आवदेन फॉर्म 

यह फॉर्म केवल 7 नवम्बर तक ही खुले हैं उसके बाद स्वत बंद हो जायेंगे और 09 नवम्बर 2022 से जिला स्तर पर विज्ञान मैला आयोजन शुरू हो जाएगा |

1. अजमेर  https://forms.gle/4McpvxJYs2KSyQ2N7
2. अलवर  https://forms.gle/kFv8ffR9yUZyQYYg7
3. बाांसवाडा https://forms.gle/rgw3pT2nQB6J71cc8
4. बाराां https://forms.gle/55qUdT574q1usK839
5. बाडमेर https://forms.gle/AzzJYN6ieEgcAneb9
6. भरतपुर https://forms.gle/EWJFCzf2UjT6KQUA7
7. भीलवाडा https://forms.gle/fpKWto57EqxYR4468
8. बीकानेर https://forms.gle/QRm8S37yAzuHR5Wn8
9. ब ांदी https://forms.gle/ukpRjnVS1RaHLSmo9
10. चित्तौडगढ़ https://forms.gle/21ckmA6qu5aSLhGG8
11. चुरू https://forms.gle/DZ5XMNT739YmBQD29
12. दौसा https://forms.gle/539vRgGxAsn4K3yYA
13. धौलपुर https://forms.gle/btguN4FgYcS44bRq6
14. डूंगरपुर https://forms.gle/BJpbUeMknDqjRbST8
15. हनुमानगढ़ https://forms.gle/We48juybfLimmzEa6
16. जयपुर https://forms.gle/FFpGJCn9NVSf58C78
17. जैसलमेर https://forms.gle/jg6hPB2VseCpMqLm6
18. जालौर https://forms.gle/Soiw6cuXGdsCYEZYA
19. झालावाड https://forms.gle/g9cBQCPKvhngHmYb8
20. झुांझुन  https://forms.gle/g9ARuuah7fJ5t57KA
21. जोधपुर https://forms.gle/KjwvmZSobvN8bhaE7
22. करौली https://forms.gle/9eefLVQtLi3SnAeE6
23. कोटा https://forms.gle/WGdE7UG7YFwjTzro8
24. नागौर https://forms.gle/fawUyem8FK2Tu5tJ8
25. पाली https://forms.gle/qtsb5K4bJ7qUP7Mq8
26. प्रतापगढ़  https://forms.gle/RnDiLsVLsRvm6GRZ6
27. राजसमांद https://forms.gle/APAMGkXy9nzNAhBd8
28. सवाई माधोपुर https://forms.gle/raQdKNG7kr4VNfM87
29. सीकर https://forms.gle/1Hdsx6HjkGYdtyDE7
30. ससरोही https://forms.gle/wPgVnYFaLy9sv93D8
31. श्रीगांगानगर https://forms.gle/atz3c8hVvXchsy5U8
32. टोंक https://forms.gle/bDZZD4NEbiMY4j6aA
33. उदयपुर  https://forms.gle/hdkD33Cqn4aHQ8yL6

नोट :  यहाँ फॉर्म के लिंक अटेच करने में टीम शाला सुगम पूर्ण सावधानी रखी फिर भी आप ऑफिशियल हेंडल से जरूर अपडेट देखें यहाँ जानकारी केवल सूचनार्थ हैं |
SCIENCE FAIR FULL INFORMATION FORMS AND FORMATS QUIZ MATERIALS

विज्ञान मेला से सम्बंधित आवश्यक फोर्मेट

 

Pin It on Pinterest